मध्य प्रदेश:नेताओं को उपमा देने का उपचुनाव


देवदत्त दुबे।
भूखा-नंगा, चुन्नू मुन्नू, चांडाल, खलनायक, काला कौवा, रावण, यह सब वे उपमा है, जो नेताओं ने एक दूसरे को अपने बयानों में दी है।

नेताओं में एक दूसरे को भला बुरा कहने की प्रतिस्पर्धा चल रही है। ऐसा माना जा रहा है कि, यह उपचुनाव नेताओं को उपमा देने के लिए याद किए जाएंगे। दरअसल जब सत्ता का तराजू डामाडोल हो रहा हो तब सत्ता पाने की आपाधापी में नेता आपा खो बैठते हैं। ऐसा ही समय प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव के दौरान देखने को मिल रहा है। जब नेताओं के बीच एक होने लग गई है, कौन किसके खिलाफ कितना बुरा बोल सकता है उपचुनाव तो निपट जाएंगे लेकिन नेताओं के बारे में जो बोला जा रहा है, वह लंबे समय तक याद किया जाएगा क्योंकि चुन-चुन कर शब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है। अब तो सुनने वालों को शर्म आने लगी है, लेकिन नेता भरी सभा में ऐसी बातें करते हुए हंसते खिलखिलाते देखे जा रहे है।

बहरहाल शब्दकोश में शब्द कम पड़ जाए, नेताओं के बारे में कहने के लिए और यह कोई और नहीं कह रहा है। नेता एक दूसरे को कह रहे हैं। इसमें किसी भी दल के नेता पीछे नहीं है। कांग्रेस नेता द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भूखा नंगा कहने की बात सबसे ज्यादा चर्चा में रही क्योंकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उसको मुद्दा बना लिया और खुद को गरीब बताने मैं गौरव समझने लगे। लेकिन अन्य नेताओं के बारे में जो कुछ कहा जा रहा है वह उसको मुद्दा भी नहीं बना सकते क्योंकि इतना भद्दा भद्दा कहा जाने लगा है। कहने में कल्पना भी करवाया जा रहा है। मतलब पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा सांवेर की एक सभा में कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि दशहरा जैसे-जैसे पास आता है इसका चेहरा रावण जैसा होने लगता है। इसी सांवेर में एक दिन पहले, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को चुन्नू मुन्नू कहा था। उन्होंने राहुल गांधी को पप्पू कहकर भी तंज कसा था। जिसके जवाब में सज्जन सिंह वर्मा ने कैलाश विजयवर्गीय के लिए यह सब कहा वही अनूपपुर में भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को रावण बताया।

इसी सांवेर में कांग्रेस उम्मीदवार प्रेमचंद गुड्डू ने तुलसी सिलावट को चांडाल कहा था जिसके जवाब में सिलावट ने कहा था कि आने वाले समय में सबको मालूम पड़ जाएगा कि पंछी आया कि कौवा कोई किसी से कम नहीं है। कृषि मंत्री कमल पटेल ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को खलनायक और राहुल गांधी को कार्टून कहने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यही नहीं, कहीं-कहीं तो खुद को भी उपमा नेता कहने में नहीं चूक रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक चुनावी सभा में पूर्व मंत्री और गीतकार स्वर्गीय विट्ठल भाई पटेल का गीत झूठ बोले कौवा काटे गाते हुए कहा कि मैं काला कौवा हूं इस पर कांग्रेस कहां चुप रहती कांग्रेसी नेता के के मिश्रा ने सिंधिया पर तंज कसते हुए कहा काला कौवा गंदगी पर बैठता है। यही वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ने दिग्विजय सिंह को भारत का सबसे बड़ा जयचंद कह दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *