मुझे फिर कभी इंसानों की शक्ल न देखनी पड़े- आयशा के आखिरी शब्द

आयशा अपने शौहर आरिफ खान के साथ विवाह के वक्त

आयशा, लियाकत मकरानी और हरमत बीबी की बेटी और आरिफ खान की बीवी थी। २३ वर्षीया आयशा मूल रूप से राजस्थान के जालौर जिले की थी। उसके पिता परिवार के साथ अहमदाबाद आकर दर्जी का काम करने लगे थे और परिवार के साथ वातवा में रहते थे। लियाकत के चार बच्चों में आयशा पढ़ने में सबसे अच्छी थी। वह परिवार की शान थी। आयशा परिवार में पहली ग्रेजुएट थी और एम ए की पढ़ाई कर रही थी। ढ़ाई साल पहले एमए की पढ़ाई करते वक्त ही उसका रिश्ता बाबू खान के बेटे आरिफ खान के साथ तय हुआ और दोनों का विवाह हो गया। आरिफ ने विवाह के बाद पढ़ाई जारी रखने की बात कही थी। शुरू में सब ठीक था, आरिफ ने आयशा से पढ़ाई छोड़ने के लिए कहा और आयशा ने पढ़ाई छोड़ दी। इसके बाद आयशा गर्भवती हो गई और इसके बाद मामला बिगड़ता गया आाखिर क्यों।

आयशा के परिवार ने अपनी हैसियत से बढ़कर विवाह में खर्च किया था, कर्जा भी लेना पड़ा था जिसे पूरा परिवार मिलकर चुका रहा था। विवाह में दहेज में तीन तोला सोना और एक किलो चांदी दी गई थी। इसके अलावा आयशा को विवाह में अन्य वस्तुएं तो दी ही गई थी। अब मुद्दे की बात पर आते हैं। आज आयशा हमारे बीच नहीं है। उसने आत्महत्या कर ली है।
मामला दहेज का लगता है। आयशा के गर्भवती होने के बाद उसके परिवार से दस लाख रूपये की मांग की गई थी। इतनी भारी रकम देने में परिवार असमर्थ था। आयशा को मायके में छोड् दिया गया और आरिफ के आयशा के पेट पर लात मारने से गर्भपात भी हो गया था। उस पर दहेज के लिए बहुत दबाव डाला जाता था, वह बेहद तनाव में थी।

आयशा की मां के अनुसार २५ फरवरी की रात को आयशा का आरिफ से झगड़ा हुआ था और आरिफ ने अपनी बीवी को मरने के लिए कहा था और आत्महत्या का वीडियो भी बनाने को कहा था शायद वह सबूत चाहता था कि उसकी बीवी वाकई अब इस दुनिया में नहीं है।

२६ फरवरी की सुबह आयशा ने साबरमती रिवर फ्रंट से साबरमती में कूदकर आत्महत्या कर ली। इसके पहले उसने वीडियो बनाया और कहा कि “ अगर वह मुझसे आजादी चाहता है तो उसे आजादी मिलनी चाहिए। मेरी जिंदगी यहीं तक है। मैं खुश हूं कि मैं अल्लाह से मिलूंगी। मैं उनसे पूछूंगी की मैं कहां गलत थी? मुझे अच्छे मां बाप मिले। मुझे अच्छे दोस्त मिले। हो सकता है कि मेरे साथ या मेरी नियति में कुछ गलत रहा हो। मैं खुश हूं। मैं संतुष्टि के साथ गुडबाॅय कह रही हूं। मैं अल्लाह से दुआ करूंगी कि अब मुझे इंसानों की शक्ल न देखनी पड़े।“ यह थे आयशा के आखिरी शब्द। अपने अंतिम समय में कोई लड़की इतना भावुक वीडियो कैसे बना सकती है। कितना जुल्म सहा होगा उसने तभी अपनी जिंदगी को खत्म करने का इतना बड़ा निर्णय ले लिया। कितने तनाव में रही होगी आयशा। उसके आत्महत्या से ससुराल वालों को क्या मिला ? उसके पति आरिफ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *