तृणमूल के निशाने पर शुभेंदु अधिकारी

अभिषेक बनर्जी

कोलकाता, 01 जनवरी । एक राजनीतिक दल का साथ छोड़कर दूसरे का दामन पकड लेने से तीखी बयान बाजी देखने को मिलता है । तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर, भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद शुभेंदु अधिकारी ने सीएम और उनके भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ खुल कर बयान बाजी कर रहे है । तृणमूल ने भी पलट वार करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है ।

तृणमूल महासचिव विनय मिश्रा

शुक्रवार को नंदीग्राम के सोनाचूड़ में जनसभा को संबोधित करते हुए शुभेंदु ने कहा था कि तृणमूल महासचिव विनय मिश्रा के घर सीबीआई रेड कर चुकी है।

वरिष्ठ सांसद सौगत राय

अब अगली बारी तोलाबाज भतीजे की है। इसे लेकर पलटवार करते हुए तृणमूल कांग्रेस के दमदम से वरिष्ठ सांसद सौगत राय ने कहा है कि शुभेंदु अधिकारी सीबीआई के प्रवक्ता बन गए हैं।रॉय ने सवाल उठाया कि आखिर शुभेंदु अधिकारी को कैसे पता है कि सीबीआई किसे पकड़ेगी और किसके यहां छापेमारी करेगी?

ADVT

उन्होंने कहा कि अभिषेक बनर्जी को लेकर जिस तरह से शुभेंदु बयानबाजी कर रहे हैं वह निंदनीय है। किसी भी तरह की तस्करी में अभिषेक को शामिल करना असभ्यता है।

ADVT
शारदा प्रमुख सुदीप्त सेन

सौगत रॉय ने कहा कि अभिषेक बनर्जी के बारे में बोलने से पहले शुभेंदु अधिकारी को शारदा प्रमुख सुदीप्त सेन की चिट्ठी में अपने नाम के जिक्र के बारे में जवाब देना चाहिए। उन्होंने छह करोड़ रुपये लिया है। इस बारे में भी लोगों को जवाब दें। उन्होंने कहा कि जिनके घर शीशे के होते हैं वह दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं फेंकते।

महासचिव पार्थ चटर्जी

शुभेंदु को यह बात समझनी चाहिए।दूसरी ओर, तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि शुभेंदु अधिकारी का एक ही लक्ष्य है कि तृणमूल को गाली देना, उनके पास संगठन का काम नहीं है, वरन तृणमूल को केवल गाली देना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *