उतरप्रदेश में 7 घंटे से लखनऊ में कमांडो ऑपरेशन जारी

डॉ अजय ओझा ।

लखनऊ के काकोरी थाना क्षेत्र के दुबग्गा इलाके में UP ATS करीब 7 घंटे से सर्च ऑपरेशन चला रही है। इसमें ATS कमांडो भी शामिल हैं। यहां ATS को एक गैराज में अलकायदा के आतंकियों के छिपे होने का इनपुट मिला था। इसके बाद की कार्रवाई में दो आतंकियों पकड़ गया है। 5 फरार बताए जा रहे हैं। तीन घरों में कमांडो तलाशी कर रहे हैं। बड़ी मात्रा में गोला-बारूद बरामद होने की भी सूचना है। इनमें कुकर और टाइमर बम भी शामिल है।

ATS ने आसपास के 500 मीटर दायरे में बने घरों को खाली करा लिया है। पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। स्थानीय पुलिस भी मौके पर है। ATS अफसरों के मुताबिक भारी मात्रा में बम बनाने के सामान मिले हैं। बम निरोधक दस्ता भी मौके पर बुलाया गया है। बताया जाता है कि आतंकी कई शहरों में सीरियल ब्लास्ट के फिराक में थे। कुछ बड़े नेता भी इनके निशाने पर थे। हालांकि ATS ने अभी तक कुछ नहीं बताया है। शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस में घटना खुलासा हो सकता है।

पांच आतंकियों के भागने की भी सूचना
पकड़े गए दो आतंकियों के 5 साथियों के ऑपरेशन से पहले भागने की सूचना है। इसके साथ ही लखनऊ से सटे अन्य जिलों में भी अलर्ट जारी किया गया है। रायबरेली, सीतापुर, बाराबंकी बॉर्डर पर चेकिंग बढ़ा दी गई है। ATS की टीम इस ऑपरेशन के लिए बीते एक सप्ताह से काम कर रही ।
आतंकियों के घरों से सूटकेस में गोला बारूद भरकर निकाला जा रहा है।

कश्मीर के AQIS मॉड्यूल से जुड़े हैं तार

पकड़े गए आतंकियों के तार जम्मू-कश्मीर बॉर्डर पर सक्रिय AQIS मॉड्यूल से जुड़े हैं। कुछ दिन पहले जम्मू में हुए एक ब्लास्ट में लखनऊ में छिपे आतंकियों की जानकारी मिली थी। सूटकेस में पकड़े गए बम भरे जा रहे हैं। काफी मात्रा में विस्फोटक मिला है। अकेले शाहिद के मकान से 4 काले सूटकेस में गोला-बारूद भरे गए हैं।

2 प्रेशर कुकर म भी बरामद

पकड़े गए आतंकी शाहिद के मकान से 2 प्रेशर कुकर बम, टाइम बम बनाने में इस्तेमाल होने वाले 7 किलो विस्फोटक और उससे जुड़े प्रोडक्ट बरामद हुए हैं।इसके साथ ही मकान से IED एक्सप्लोसिव बरामद किया गया है। प्रेशर कुकर के जरिए टाइमर डिवाइस से विस्फोट का साजिश बताई जा रही है।घर के अंदर लगी एक जाली भी काटी है, क्योंकि दरवाजा खुल नहीं रहा था। उसमें भी विस्फोटक सामान बताया जा रहा है।

आतंकियों के घरों को कमांडो ने चारों ओर से घेर रखा है।

परिवार वालों से भी हो रही है पूछताछ
ATS ने जिन आतंकियों को पकड़ा है, उनके नाम शाहिद और वसीम। जबकि रियाज और सिराज के घरों में तलाशी चल रही है। सभी से पूछताछ भी हो रही है। शाहिद के मकान को सीज किया गया है। कमांडो घर के अंदर हैं। तीनों के घर सटे हुए हैं। शाहिद के परिवार वालों से पूछताछ जारी है। वहीं, लखनऊ के मडियांव से भी एक संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है।

ATS टीम डॉग और बम स्क्वाॅड लेकर पहुंची है।

एक आतंकी उन्नाव का रहने वाला है।
पहले आतंकी का नाम शाहिद उर्फ गुड्डू बताया जा रहा है, जो उन्नाव का रहने वाला है। उसी के घर में दूसरा आतंकी भी छिपा हुआ था। दोनों ट्रेनिंग प्राप्त आतंकी हैं। घर में काफी गोला-बारूद होने की भी सूचना है। ATS की टीम उन्नाव भी रवाना हो गई है।
लखनऊ का आतंकी कनेक्शन- 2017 में भी आतंकी मार गिराया गया था।

मार्च 2017 में सुरक्षा बलों ने लखनऊ में छिपे आतंकी सैफुल्ला को मार गिराया था, जो ISIS के खुरासान माॅड्यूल का सदस्य था। वह कानपुर का रहने वाला था। वारदात के बाद कानुपर और उन्नाव में भी कई आतंकियों की गिरफ्तारी हुई थी।

सितंबर 2018 में चकेरी के जाजमऊ अहिरवां स्थित शिवनगर कॉलोनी पकड़े गए हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी कमरुज्जमां उर्फ कमरुद्दीन उर्फ डॉ. हुरैरा को गिरफ्तार किया था।

NIA और ATS को पूछताछ में इसने एक और आतंकी ओसामा बिन जावेद का नाम लिया था, जो हिजबुल मुजाहिद्दीन का कमांडर था। सितंबर 2019 में जिसे जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने मार गिराया था।