गोण्डा :70 लाख की फिरौती मांगने के दो और अभियुक्त गिरफ्तार

जनपद की पुलिस पर जगा लोगों का विश्वास, करनैलगंज के बाद अब गौरव अपहरण काण्ड का किया खुलासा

अतुल श्रीवास्तव अमित कुमार गर्ग।

गोण्डा। गौरव का अपहरण करने के बाद फिरौती मांगने मे शामिल जहां दो आरोपी पहले गिरफ्तार हो चुके थे वहीं अब स्थानीय पुलिस ने रोहित सिंह, पुत्र स्व उदय प्रताप सिंह कोर्ट बाजार थाना पयागपुर जनपद बहराइच,सतीश कुमार चौरसिया पुत्र श्री लालमनि चौरसिया निवासी सोनाडी ( हैदरबाजार ) थाना धनघटा जनपद
सन्तकबीर नगर से गिरफ्तार कर भेजा न्यायालय।

ज्ञात हो कि निखिल हालदार पुत्र नीलरतन हालदार निवासी सत्संगनगर कालोनी काशीजोत थाना पयागपुर जनपद बहराइच के पुत्र गौरव हालदार, जो कि एस0सी0पी0एम0 कालेज गोण्डा में बी0ए0एम0एस0 की पढ़ाई कर रहा था, का बदमाशो द्वारा फिरौती के लिए अपहरण कर लिया गया था, जिसके सम्बन्ध में थाना को0 नगर गोण्डा में उक्त अभियोग पंजीकृत किया गया था । घटना की सूचना मिलते ही पुलिस महानिरीक्षक देवीपाटन रेंज डॉ0 राकेश सिंह व पुलिस अधीक्षक गोण्डा श्री शैलेश कुमार पाण्डेय मय पुलिस बल के तत्काल मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया । इस सनी सनीखेज घटना का पर्दाफाश करने के लिए गोण्डा पुलिस, एस0टी0एफ0 व विभिन्न इकाईयों की टीमों को लगाया गया था ।

गोण्डा पुलिस व एस0टी0एफ0 ने संयुक्त अभियान में मुठभेड़ के दौरान ग्रेटर नोएडा में आगरा की तरफ चढ़ने वाले जीरो पॉइंट से अभियुक्त डॉ0 अभिषेक सिंह पुत्र राजेश सिंह नि0 अचलपुर थाना वजीरगंज जनपद गोण्डा हालपता फ्लैट नं0 310 ग्लोरिया अपार्टमेन्ट बक्करवाला डी0डी0ए0 फ्लैट दिल्ली, नीतेश पुत्र विनोद बिहारी नि0 बालपुर थाना निहारगंज धौलपुर राजस्थान, मोहित सिंह पुत्र शिव मूरत सिंह नि0 ग्राम परौली थाना करनैलगंज जनपद गोण्डा को गिरफ्तार कर अपह्रत गौरव हालदार को सकुशल बरामद कर लिया गया था । तथा इस घटना में संलिप्त अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु स्वाट / सर्विलांस सहित जनपद की कई पुलिस टीमें लगायी गयी थी, प्राप्त इनपुट के आधार पर प्रकाश में आये उक्त आरोपी अभियुक्तगणों को सीहापार हाल्ट से पहले जनपद संतकबीरनगर से गिरफ्तार कर लिया गया ।
पूछताछ में अभियुक्त रोहित नें बताया कि अपह्रत गौरव हालदार के पिताजी हमारे परिचित है जिनकी क्लीनिक से प्रतिदिन अच्छी आय होती है, उनसे पैसे कमाने के लिए अपने रिश्तेदार डॉ0 अभिषेक सिंह से मिलकर गौरव हालदार के अपहरण की योजना बनायी गयी, योजना के तहत डॉ0 अभिषेक सिंह की महिला मित्र डॉ0 प्रीती मेहरा की मदद से गौरव हालदार को दोस्ती के जाल में फसाया तथा और चौपाल सागर मे मिलने के लिए बुलाया हम सभी लोग दिल्ली से कार से आए गौरव हालदार मुझे पहचान न ले इसलिए मै लखनऊ मे ही कार से उतर गया । डॉ0 अभिषेक सिंह ने मुझे 4000 रुपये व नितेश ने एक सिम दिया था और कहा कि एक नया मोबाइल लेकर उससे फिरौती की मांग करना, मै बस से खलीलाबाद आ गया जहां पर मेरे साथ गीडा में काम करने वाले सतीश उपरोक्त के साथ जाकर महेश मोबाइल शॉप खलीलाबाद से 660 रुपये में एक मोबाइल खरीदा जिससे मेरे साथी सतीश नें गौरव हालदार के पिता को फोन कर 70 लाख की फिरौती मांगी थी । हम लोगो का एक पासवर्ड था जिसके माध्यम से हम लोगो की बातचीत होती थी तथा यह प्लानिंग थी कि हरबार नये मोबाइल / सिम से फिरौती मांगी जायेगी तथा उस मोबाइल व सिम को चलते हुये ट्रक में फेक दिया जायेगा जिससे लोकेशन एक जगह की पता न चल सके । इस घटना क्रम में डॉक्टर अभिषेक सिंह व मेरी ( रोहित सिंह ) महत्वपूर्ण भूमिका रही।

गिरफ्तार अभियुक्तो को न्यायालय भेजा गया ।जिसमे प्रभारी निरीक्षक आलोक राव थाना कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक संतोष तिवारी थाना वजीरगंज गोण्डा,प्रभारी स्वाट / सर्विलांस अतुल चतुर्वेदी,उप निरीक्षक राजकुमार सिंह,श्रीनाथ शुक्ला, मुलायम यादव ,अजीत चंद, राजू सिंह, राजेन्द्र यादव,अरविन्द, अमितेश,आदित्य पाल, ह्दय नरायण दीक्षित,अमित यादव ,उप निरीक्षक राजेश मिश्रा,हेड कान्टेबल अरुण यादव ,शिव कुमार नायक,चन्दन मिश्रा ,शिवम यादव ,सतवंत शर्मा ,कांस्टेबल संजय कुमार ,हरिओम टण्डन साइबर सेल ने भी आरोपियों की गिरफ्तारी मे निभाई अहम भूमिका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *