विरोध करते परिजनों के बीच प्रेमी और प्रेमिका को निकाह के पवित्र बंधन में जोड़ा पुलिस ने : निकाह हुआ पुलिस स्टेशन के परिसर के अंदर

डॉ अजय ओझा ।

बहराइच (उत्तर प्रदेश) के थाना बौंडी में मुस्लिम प्रेमी व प्रेमिका की शादी कराए जाने की खबर सामने आई हैं। पुलिस से जानकारी के अनुसार, “दोनों के बीच 1 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था…दोनों के परिवार शादी के लिए सहमत नहीं थे…एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत थाने में पहुंचने पर दोनों बच्चों का समझौता कराकर थाने में ही उनका निकाह कराया गया।”

एक साल से लुकछुप चल रही थी प्रेम कहानी थाने में निकाह में बदल गई। पंचायत में बात बनी तो तत्काल काजी को बुलाया पुलिस ने। काजी ने निकाह पढ़ा। थाने में विवाह हुआ और पुलिसकर्मी गवाह बने और आशीर्वाद देकर थाने से विदा किया। पुलिस के इस कार्य की सराहना भी क्षेत्र में हो रही है।

बौंडी थाना क्षेत्र के ठाकुरपुरवा गांव निवासी शाहिद का पास के ही दूसरे गांव निवासी रेशमा से पिछले एक साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। दोनों ने कई बार हमेशा के लिए एक-दूसरे का होने के लिए निकाह करने की बात सोची, लेकिन परिजन आड़े आ रहे थे। इसी बीच दोनों परिवारों के संज्ञान में प्रेम-प्रसंग का मामला आया तो प्रेमी शादी करने से इंकार करने लगा। यह बात प्रेमिका के घरवालों को नागवार गुजरी। कई बार प्रेमी के घर मनाने के लिए भी गए, लेकिन बात नहीं बनी।

थक हारकर अपना दर्द लड़की वाले पुलिस को सुनाने पहुंचे। बौंडी थानाध्यक्ष मनोज कुमार राय ने प्रेमी व उसके परिजनों को थाने बुलाया। थाने में पंचायत शुरू हुई। घंटों गहमागहमी चलती रही।

पंचायत में लड़के व उसके परिजन विवाह करने की बात पर राजी हो गए। बात बनी तो तत्काल गांव के ही काजी अब्दुल कादिर को बुलाया गया। काजी ने निकाह पढ़ा।

थाने में प्रेमी युगल का विवाह हुआ और उसके गवाह थानाध्यक्ष समेत अन्य पुलिसकर्मी व गांव के लोग बने। प्रेमी युगल की जोड़ी अब विवाह के बंधन में बंध गई है।

सभी पुलिसकर्मियों व संभ्रांत लोगों ने आशीर्वाद दिया। दोनों परिवार के लोग हंसी-खुशी अपने घर चले गए।