मंदसौर गोलीकांड की बरसी एक काला दिन

जिन किसानों का कर्ज मुक्ति प्रमाणपत्र,उनका उपार्जन भुगतान का पैसा लौटाये सरकार
धनमत से सरकार बनाकर भ्रष्टाचार की बात करना  अशोभनीय-जीतू पटवारी

भोपाल।मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मंदसौर गोलीकांड  के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए इसे काले दिन के रूप में याद किया है। उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार ने जिस तरह मंदसौर में निर्दोष किसानों के ऊपर तीन साल पहले गोली चालन किया था उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। मध्य प्रदेश में शिवराज का पिछले 15 साल का इतिहास सैकड़ों किसानों की आत्महत्या का इतिहास बन गया है जिस पर कमलनाथ सरकार आने से रोक लग गई थी,उनकी खुशियां लौट रहीं थीं मगर धनादेश से उनकी किसान हितैषी सरकार गिरा दी गई। अपने आप को किसान का बेटा बताने वाले शिवराज जी आज प्रदेश को आपने उन्हीं हालातों में वापिस लौटा दिया है।

जीतू पटवारी

प्याज खेतों मे पडी़ है और पानी से सड़ेगी यह जानते.हुये भी आपने भंडारण और खरीदी का इंतजाम नहीं किया।उस प्याज का आज कोई एक रुपये किलो का.लेवाल नहीं है जो कमलनाथ जी के राज में ऊंची कीमत में बिकी थी।  सिंह की सरकार में किसान हमेशा ही अत्याचार और शोषण का शिकार हुआ है आज भी मंडी प्रांगण में किसानों की लाखों रुपए की फसल पानी की भेंट चढ़ गई है और सरकार ट्वीट-ट्वीट खेल रही है।पटवारी ने कहा कि सरकार बताए कि किसानों को दस-दस दिन तक क्यों लाइन में खड़ा रहना पड़ रहा है उनकी फसल की तुलाई क्यों नहीं हो रही है । नए खाद विक्री  फार्मूले से आप ने किसानों की गर्दन निजी व्यापारियों के हाथ में क्यों सौंप दी है ?जिससे उन्हें समय पर खाद चाहिए तो दोगुने दामों पर व्यापारियों से खरीदना पड़ेगा । कमलनाथ सरकार ने निजी क्षेत्र में केवल 20% खाद व्यापार सीमित कर दिया था किंतु शिवराज जी आपने उसे बढ़ाकर 45% कर दिया है ।जीतू पटवारी  ने मांग की है कि वह वापस कमलनाथ सरकार का खाद वितरण फार्मूला लागू करे।पटवारी ने कहा कि इस मंदसौर.शहीद दिवस पर  किसानों को सच्ची श्रृद्धांजलि तभी हो सकती है जब सरकार ऋण मुक्ति प्रमाणपत्र प्राप्त किसानों का उपार्जन के भुगतान का पैसा ऋण खाते से निकालकर किसानों को लौटाये।पटवारी ने सरकार को आगाह किया कि समय रहते प्याज  किसानों को राहत पहुंचायें उन्हें तीन साल पुरानी परिस्थितियों मत ढकेलें।पटवारी ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर चेतावनी दी और कहा कि आपकी सरकार जनता ने नहीं धनादेश ने बनाई है किसान ने कर्ज माफी के लिये सरकार बनाई थी लेकिन अनैतिक प्रलोभनों से जनमत लूट लिया। लेकिन किसान का मेंडेट जिंदा है,वापिस आकर हमारी सरकार बचे हुये किसानों का एक जून से प्रस्तावित कर्जा माफ करेगी।

देवदत्त दुबे (ब्यूरो प्रमुख)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *