तुष्टिकरण की राजनीति के कारण झारखंड में देशविरोधी ताकतें हो रही हैं मजबूत : दीपक प्रकाश

Share:

डाॅ अजय ओझा।

रांची, 22 अप्रैल । भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने गिरीडीह के गांडेय में एक मुखिया प्रत्याशी के नामांकन में देशविरोधी ताकतों द्वारा पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर राज्य सरकार को आड़े हाथ लिया है। श्री प्रकाश ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार की
तुष्टिकरण की राजनीति के कारण झारखंड में देशविरोधी ताकतें की जड़ें काफी मजबूत हो चुकी है।

श्री प्रकाश ने कहा कि इस सरकार के गठन के बाद से ही इस प्रकार की घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हुई है। लोहरदगा में हाल के दिनों में स्लीपर सेल की गतिविधियों का मामला अभी ताजा ही है और फिर ऐसे में गिरिडीह के गांडेय से इस प्रकार का मामला सामने आने से यह साबित हो चुका है कि राज्य में राष्ट्र विरोधी ताकतों की जड़ें काफी गहरी हो चुकी है। इस पर तत्काल सरकार को कठोर रुख अपनाने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने पंचायत चुनाव घोषणा के वक्त ही कहा था कि इसमें राष्ट्रवादी ताकतों को जीतकर आनी चाहिए। कल्पना कीजिए कि ऐसी ताकतें जनप्रतिनिधि बनकर पंचायत का प्रतिनिधित्व करेंगे तो राज्य की क्या स्थिति होगी। जो स्थिति है कि देशविरोधी ताकतें राज्य को अस्थिर करना चाहती है।

श्री प्रकाश ने राज्य सरकार को स्पष्ट कहा है कि वोट बैंक के लिए झारखंड का बंटाधार नहीं किया जाना चाहिए। वोट बैंक अपनी जगह है और राष्ट अपनी जगह। एक बार ऐसे तत्व पांव पसार लेते हैं तो इन पर उनके कथित आकाओं का भी नियंत्रण नहीं होता। सरकार को इस मामले में वोट बैंक से इतर कठोर निर्णय लेने की जरूरत है।

श्री प्रकाश ने कहा कि गिरीडीह मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी पर्याप्त नहीं है। इस मामले में आरोपियों पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाना चाहिए। इतनी कठोरतम कानूनी कार्रवाई हो कि दुबारा कोई इस प्रकार की हिम्मत नहीं जुटा सके।


Share: