पहले पूछले कौन सा वैक्सीन लगाये जा रहा है

Share:

प्रयागराज। कोरेाना हराने को टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण पहली और दूसरी डोज अलग-अलग देने का मामला सामने आया है। प्रयागराज के एक शख्स को आजमगढ़ में अलग-अलग डोज दे दी गई। स्वास्थ्य अधिकारी स्थानीय स्तर पर ऐसे मामले होने से इनकार कर रहे हैं। अब ऐसे में लाभार्थियों को खुद सतर्क रहने की जरूरत है। टीका लगने से पहले बेहिचक होकर पूछें कि उन्हें कौन सी वैक्सीन दी जा रही है।
आजमगढ के बूढ़नपुर तहसील के एक व्यक्ति ने 16 अप्रैल को नज़दीकी स्वास्थ्यकेंद्र जाकर कोवैक्सीन की पहली डोज़ लगवाई थी। इसका उन्हें मोबाइल मे मैसेज भी प्राप्त हुआ था। 17 मई को जब वो दूसरी डोज़ लगवाकर लौटे और मोबाइल पर संदेश देखा कि उन्हें दूसरी डोज़ कोविशील्ड की लग गई है। अब वह विभाग के पास चक्कर लगाकर परेशान हो रहे हैं।
दोबारा मांगा रजिस्ट्रेशन नंबर :
मेजा क्षेत्र के रामनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर व्यक्ति के साथ भी रजिस्ट्रेशन में ग़लती की गई। टीका लगने के बाद अजय को कोई मैसेज ही नहीं मिला। अगले दिन उनके पास मैसेज आया। उनसे उनके रजिस्ट्रेशन नंबर व आधार कार्ड फिर से मांगे गए। उनसे कहा गया कि आपका नाम व अन्य जानकारियां रजिस्टर में सही ढंग से दर्ज़ नहीं की गई थीं।

हमारे यहां पूरी चौकसी, सर्तक होकर लगाएं टीका :
जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ तीरथलाल के अनुसार, पहली व दूसरी डोज अलग-अलग लगाने के मामले सुनने को मिले हैं। प्रयागराज में कहीं भी ऐसी कोई बात नहीं हुई है। कर्मचारियों को पूरी सतर्कता के साथ टीकाकरण करने को कहा गया है। पहली डोज जिसकी लगी हो, दूसरी भी उसकी ही लगाएं। लापरवाही पर कार्रवाई होना तय है। लाभार्थी भी पूरी तरह से सचेत रहें।


Share: