मानवीय संवेदना से जोड़ती हैं कलाकृतियां: डा. मालविका

Share:

बटोही।

दिल्ली के अशोक तिवारी और जसवंत सिंह गिल की कलाकृतियां का ‘टू मेन शो खानम आर्ट गैलरी में।

प्रयागराज। दिल्ली से प्रयागराज आए एमिनेंट आर्टिस्ट अशोक तिवारी और मूर्तिकार जसवंत सिंह गिल की पेंटिंग्स तथा मूर्तियों का ‘टू मेन शो’ कला प्रदर्शनी का आरंभ करेली स्थित खानम आर्ट गैलरी में हुआ।
बता दें कि खानम आर्ट गैलरी की ओर से हर साल दो कलाकारों को ‘कला श्रेष्ठ पुरस्कार’ दे सम्मानित किया जाता है। इस साल यह पुरस्कार दिल्ली के अशोक तिवारी और मूर्तिकार जसवंत सिंह गिल को चुना गया है। यह पुरस्कार प्रदर्शनी समापन कार्यक्रम के अवसर पर 15 अक्टूबर को दिया जाएगा।

प्रदर्शनी में चित्रकार अशोक तिवारी ने संवेदनाओं के एक्शन और उसके रिएक्शन के प्रभाव को चित्रों में उकेरा है। चित्रों को देखकर कला के प्रति उनका समर्पण दिखाई देता है। जबकि मूर्तिकार जसवंत सिंह गिल ने जीवन की भागदड़ में मानवीय संवेदनाओं को अभिव्यक्ति का माध्यम बनाते हुए एक मजदूर की दिनचर्या को कृतियों के द्वारा प्रदर्शित किया है।

दोनों कलाकारों के सम्मान में कलाकारों का ‘टू मेन शो’ कला प्रदर्शनी करेली स्थित खानम आर्ट गैलरी में 15 अक्टूबर तक चलेगी।
विशिष्ट अतिथि मनोचिकित्सक डा. मालविका राव ने कलाकृतियों को बारीकी से देखते हुए कहा कि कलाकृतियों को देखकर मेरा दिल नहीं भरा है, मैं इन्हें फिर दोबारा आकर देखना चाहूंगी। यह चित्र हमको रोजमर्रा की जिंदगी और मानवीय संवेदना से जोड़ते हैं, जिनसे कि आज हम जूझ रहे हैं। गैलरी की निदेशक व मुख्य अतिथि जाहेदा खानम ने उपस्थित कलाकार व मेहमानों का स्वागत और धन्यवाद किया। इस मौके पर असरार गांधी ललित कला अकादमी के सदस्य रवींद्र कुशवाहा, एडवोकेट अखिलेश तिवारी, डॉक्टर नगीना राम, एनपी प्रसाद, सलामत उल्ला व नन्हे कलाकार बहुत सारे कला प्रेमी गैलरी में उपस्थित रहे। संचालन इकरा जफर ने किया। यह प्रदर्शनी 15 अक्टूबर तक सुबह 11बजे से रात 8 बजे तक चलेगी।


Share: