पट्टी में अनुप्रिया ने किया गठबंधन का अपमान: बलवंत सिंह

भारतीय जनता पार्टी के पंचायत प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश संयोजक बलवंत सिंह ने कहा है किप्रतापगढ़ पट्टी के धुई ग्रामसभा में जिस तरह सुश्री अनुप्रिया पटेल ने एक तरफा जातीय पंचायत लगाई  और भारतीय जनता पार्टी के नेता और कैबिनेट मंत्री  के विरोध में नारे बाजी करवाई उससे यह प्रतीत होता है कि इनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है इनके पिता सोनेलाल पटेल जब तक एक जाति की राजनीति किए कभी सफल नहीं हुए आज अनुप्रिया यह भूल रही की आज वो जो कुछ भी है वह भारतीय जनता पार्टी की देन है जिस तरह से अनुप्रिया का कृत्य है उससे हिंदुत्व का अपमान हो रहा है, प्रतापगढ़ में अपना दल वा भाजपा गठबंधन से योगी जी के नेतृत्व मं चुने गए विधायक को जिताने में पट्टी के विधायक व सरकार में मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह मोती सिंह जी की अहम भूमिका थी  भारतीय जनता पार्टी के एक एक कार्यकर्ता की बदौलत अपना दल सदर से चुनाव जीती परन्तु अनुप्रिया ने पट्टी में जो कृत्य कराया उससे भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता अपने को अपमानित महसूस कर रहा है पिता की राह पर चलना है तो भाजपा के कार्यकर्ताओं को अपमानित न करे गद्दी पाने के लिए अपनी माता और बहन को भूल गई और घटना के 22 दिन बाद  पट्टी की याद कैसे आ गई कोई बौखलाहट है या सरकार से कोई डील करना चाहती है। यदि  अनुप्रिया को भाजपा नहीं पसंद आ रही तो गठबंधन क्यों जिस तरह प्रशासनिक अधिकारी पर उनके कार्यों पर टिप्पणी की उसकी हम घोर निंदा करते हैं  प्रशासनिक अधिकारी पर दबाव बनाना अमानवीय कृत्य है  बलवंत सिंह ने कहा कि हम कहना चाहते है कि भारतीय जनता पार्टी के नेता वा कार्यकर्ता का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जायेगा वो भारतीय जनता पार्टी के नेता कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह से माफी मांगे।

सौरभ सिंह सोमवंशी (पत्रकार)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *