सरायइनायत मे पुलिस की लापरवाही के चलते हुई हत्या

राहुल कुमार विश्वकर्मा

प्रयागराज

पहले चेत लेती पुलिस तो नहीं होती रमेश की हत्या
दस दिन पूर्व हुई थी मारपीट, पुलिस ने नहीं की कोई कार्यवाही
हनुमानगंज:- सरायइनायत थाना क्षेत्र के सहसों बाजार में हुई कोयला व्यवसायी रमेश सिंह की हत्या के मामले में थाने की पुलिस पहले चेत लेती तो इतनी बड़ी वारदात न होती आरोपी को इलाकाई पुलिस का संरक्षण मिल रहा है
सरायइनायत थाना क्षेत्र के सहसों बाजार में कांदी गाँव निवासी रमेश सिंह कोयला व्यापारी है जिसकी गाँव के प्रधान पंचम सिंह उर्फ सत्येंद्र से चुनावी रंजिश है गुरुवार की शाम सहसों बाजार में जब रमेश अपनी दुकान बंद कर घर जाने को तैयार था तभी आरोपी पंचम अपने भाईयों के साथ पहुँच कर रमेश को निशाना बनाकर फायर झोक दिया,जिससे रमेश गंभीर रूप से जख्मी हो गया परिजनों ने उसे तत्काल एस आर एन में भर्ती कराया जहाँ उपचार के दौरान शुक्रवार को रमेश की मौत हो गयी रमेश के लड़के की तहरीर पर पुलिस ने पंचम के दो भाइयों समेत तीन को नामजद किया है आरोप है कि पंचम थाने की पुलिस का दलाल है पुलिस उसी के इशारे पर काम करती है रमेश की पंचम से दस दिन पूर्व भी मारपीट हुई थी उस समय भी रमेश पर प्राणघातक हमला आरोपियों ने किया था किन्तु पुलिस ने आरोपियों पर प्रभावी कार्यवाही नहीं की, यदि थाने की पुलिस उसी समय 307 का मुकदमा दर्ज कर पंचम को गिरफ्तार कर जेल भेज देती तो आज रमेश की हत्या न होती भुक्तभोगी का आरोप है कि इलाके की पुलिस आरोपियों से मिली हुई है इस लिए उनकी प्रार्थना पत्र पर पुलिस कोई प्रभावी कार्यवाही नहीं करती है थाने की पुलिस की निष्क्रियता से रमेश की हत्या हुई है।